Deep Kalra Success Story in Hindi

Deep Kalra Success Story in Hindi : कंपनी : मेकमाय ट्रिप डॉट कॉम

संस्थापक : दीप कालरा, आईआईएम ग्रेजुएट  
क्या खास : देश को ऑनलाइन टिकट बुकिंग का पहला अनुभव दिया।  
 
सेंट स्टीफंस कॉलेज, दिल्ली से ग्रेजुएश्न और आईआईएम अहमदाबाद से बिजनेस मैनेजमेंट की  डिग्री लेकर दीप कालरा ने पहली नौकरी के लिए बैंकिंग सेक्टर चुना। उन्हें यह समझने में आठ वर्ष लग गए कि असल में वे क्या करना चाहते हैं। एबीएन एमरो बैंक में तीन साल काम करने के बाद उन्होनें निर्णय लिया की पूरी ज़िंदगी बैंक की नौकरी के साथ बिताना नहीं चाहता। दीप बताते हैं, यह समझने के लिए कि आगे क्या करना है, उन्होनें एबीएन एमरो छोड़कर एक साल का ब्रेक लेने का फ़ैसला लिया। इस ब्रेक के दौरान उन्हें कॉपोर्रेट वर्ल्ड में शानदार जॉब के कई ऑफर मिले। 
 
इस बार उन्होनें ऐसा काम चुना जिसमें चुनौती अधिक थी। उन्होनें एएमएफ बोलिंग इंक को भारत लाने का काम हाथ में लिया। 90 के दौर में भारत में बोलिंग एली के लिए निवेश जुटाना कठिन काम था। चार साल कि मशक्कत और संघर्ष के बाद उन्होने इस काम को भी अलविदा कह दिया, दीप के अनुसार, वित्तीय दुर्घटना होने के बावजूद यह आंत्रप्रेन्योरशिप के लिहाजा से अद्भुत अनुभव था। अपना काम शुरू करने के लिए उन्हे अभी और कॉपोर्रेट अनुभव कि जरूरत महसूस हुई। उनका अगला जॉब जीई कैपिटलके साथ रहा। अपना उद्यम स्थापित करने की चाह उनमें बरकरार थी। यह वह दौर था जब इंटरनेट भारत में पैर जमा रहा था। दीप ने भारतीए पर्यटन उधयोग का अध्ययन किया तो पाया कि हमारे देश में ऑनलाइन यात्रा टिकट बुक नहीं होते। इस तथ्य के साथ उन्होने तय किया कि वे इसी दिशा में काम करेंगें। वर्ष 2000 में दीप कालरा ने ऑनलाइन बुकिंग सर्विस शुरू करने के लिए वेबसाइट लॉन्च कि मेकमायट्रिप डॉट कॉम
 
नए काम कि मुश्किल चुनौती – 
 
लो कॉस्ट हवाई सेवाओं कि ऑनलाइन टिकट बुकिंग से सुरुआत करने वाले दीप कालरा को दुर्दिनों का सामना भी करना पड़ा। वे कहते हैं, तब मेरी उम्र 31 वर्ष। उस दौरान हमारे देश में लोग ऑनलाइन बुकिंग कॉनसेप्ट के साथ सहज नहीं थे। ऐसे में 18 माह तक मैंने और मेरे दो सीनियर मैनेजर्स ने बिना वेतन मेकमायट्रिप डॉट कॉम को किसी तरह जीवित रखा। स्थिति में बदलाव तब आया जब भारतीये रेलवे ने ऑनलाइन टिकट बुकिंग सेवा शुरू की। इसके बाद ऑनलाइन बुकिंग को लोंगों ने बेहतर तरह से आजमाया। अगले पांच सालों में मेकमायट्रिप डॉट कॉम इतना कारोबार करने लगी कि दीप ने अपनी कंपनी को शेयर स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध करवा लिया। वे कहते हैं काम कितना भी छोटा या बड़ा हो उसे अच्छा और ऐसा बनाइए जिस पर आपको गर्व हो।

One Response

  1. MANOHAR VAISHNAV April 23, 2017

Leave a Reply

error: Content is protected !!